Home मनोरंजन 8th Theatre Olympics: नाना पाटेकर, नवाज़, स्वानंद किरकिरे और मनोज जोशी ने...

8th Theatre Olympics: नाना पाटेकर, नवाज़, स्वानंद किरकिरे और मनोज जोशी ने की शिरकत

36
0
SHARE

मुंबई। कला और संस्कृति के अनूठे संगम से सराबोर हुई मायानगरी। भारत के विभिन्न राज्यों के नृत्यों ने दर्शकों को किया मंत्रमुग्ध। थिएटर व सिनेमा कलाकारों के बेहतरीन प्रदर्शन से मुंबई में रविवार की शाम रंगीन हुई। मौका था नेशनल स्कूल अॉफ ड्रामा, नई दिल्ली द्वारा चल रहे आठवें थिएटर अोलम्पिक्स के समापन समारोह का जो कि मुंबई के कामगार स्टेडियम में समपन्न हुआ। 51 दिनों से देश के 17 शहरों में चल रहे इस एतिहासिक कार्यक्रम में मानो देश के कोने-कोने से कलाकारों का जमावड़ा था।

थिएटर को लेकर भव्य आयोजन नेशनल स्कूल अॉफ ड्रामा, नई दिल्ली की ओर से मुंबई में रविवार को हुआ जिसमें नृत्य से लेकर अभिनय कला का प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेता नाना पाटेकर बतौर प्रमुख अतिथि मौजूद थे जिन्होंने अपने मशहूर डायलॉग प्रस्तुत किए। नाना पाटेकर ने एनएसडी के डायरेक्टर का घन्यवाद करते हुए कहा कि, थिएटर को जिंदा रखने के लिए और नए प्लेटफॉर्म तक लाने के लिए घन्यवाद। कार्यक्रम में मशहूर अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने वह डायलॉग प्रस्तुत किया जिसे उन्होंने कई सालों पर एक नाटक में बोला था।

आयोजन में एक और प्रमुख प्रस्तुति प्रसिद्ध थिएटर कलाकार और फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने नाम मनोज जोशी की थी जिन्होंने अपने प्रसिद्ध चाणक्य रूप को धारण कर प्रस्तुति दी।

मशहूर गीतकार और अभिनेता स्वानंद किरकिरे ने प्रसिद्ध गीत बावरा मन देखने चला एक सपना

सुनाया। इसके साथ कार्यक्रम में रामदार पाधे ने भी अपनी प्रस्तुति से दर्शकों का खूब मनोरंजन किया।

लावणी, भरनाट्यम से लेकर असम के बिहू तक

रंगारंग आयोजन का अहम हिस्सा थे देश के विभिन्न राज्यों के नृत्य। अलग-अलग प्रदेश के कलाकारों ने प्रभावी नृत्य से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। महाराष्ट्र की लावणी, ओड़िसा का गोटीपुरा और सिंगारी, गुजरात का राठवा होली नृत्य व असम का बिहू जैसे नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

लावणी की प्रस्तुति प्रसिद्ध नृत्यांगना वैशाली जाधव ने दी।

इसके बाद आखिर में रंगशिखर की प्रस्तुति दी गई जिसमें भारतीय शास्त्रीय संगीत के सभी वाद्य यंत्रों का उपयोग किया गया।

यह ट्राइबल, फोक और थिएटर पर फॉर्मेंस का कोलाज था। हजारों काल, एक सुर एक ताल, विविधता में एकता का इस प्रस्तुति के माध्यम से संदेश दिया गया। इस अवसर पर मशहूर अभिनेता मोहन अगाशे भी उपस्थित थे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस थे। संस्कृति मंत्री डॉ. महेश शर्मा, और मशहूर अभिनेता नाना पाटेकर विशिष्ट अतिथि थे। इसके साथ कार्यक्रम मेंं आठवे थिएटर अोलंपिक्स के आर्टिस्टिक डायरेक्टर रतन थियम और नेशनल स्कूल अॉफ ड्रामा सोसायटी के एक्टिंग चेयरमैन डॉ. अर्जुन देव चरन खास तौर पर मौजूद थे। इंटरनेशनल कमेटी अॉफ थिएटर अोलंपिक्स के चेयरमैन थियोडोरस टर्जोपोलस और मिनिस्ट्री अॉफ कल्चर के सेक्रेटरी एम एल श्रीवास्तव भी उपस्थित थे। नेशनल स्कूल अॉफ ड्रामा के डायरेक्टर वामन केंद्र भी खास तौर से मौजूद थे। संचालन हिमानी शिवपुरी ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here