Home national विधायक राजेन्द्र गर्ग ने सुनी पन्तेहड़ा में जन समस्याएं

विधायक राजेन्द्र गर्ग ने सुनी पन्तेहड़ा में जन समस्याएं

40
0
SHARE


जनवक्ता डेस्क बिलासपुर
लोगों की समस्याओं का घर-द्वार पर समाधान सुनिश्चित बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा महत्वपूर्ण जनमंच कार्यक्रम शुरू किया गया है ताकि ग्रामीण क्षेत्र तथा दूर दराज लोगों को अपनी समस्याओं के समाधान के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े। समस्याओं का मौके पर ही निपटारा करने के लिए मंत्री तथा अधिकारी लोगों से सीधे संवाद करके उनकी समस्याओं को सुन रहे है और उसका निपटारा कर रहे है। यह जानकारी घुमारवीं विधायक राजेन्द्र गर्ग ने ग्राम पंचायत पन्तेहड़ा में लोगों की समस्याएं सुनने के उपरांत जनसभा को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश का चहुमुखी विकास सुनिश्चित बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने वृद्धजनों को आदर सम्मान देते हुए पहला निर्णय वृद्धावस्था सामाजिक सुरक्षा पेंशन की सीमा आयु को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष करके अधिक से अधिक बुजुर्गों को लाभान्वित किया।
उन्होंने कहा कि बेसहारा गौवंश को संरक्षण देने के लिए व किसानों की खेती को आवारा पशुओं से बचाने के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में काऊ सेन्चुरी बनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि इसके लिए मंदिरों की आय का कुछ हिस्सा व शराब की प्रति बोतल 1 रूपए टैक्स लगाकर गौवंश पर खर्च किया जाएगा। उन्होंने बताया कि घुमारवीं में त्यामलू के जंगल में 112 बीघा जमीन पर काऊ सेन्चुरी बनाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ‘जल से कृषि को बल‘ योजना के माध्यम से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि घटते हुए जल स्तर की समस्या से निपटने के लिए चैक

डैम, कुएं, तालाब व खड्डों के चैनलाईजेशन की आवश्यकता पर बल दिया जा रहा है ताकि हर खेत को जल मिले ताकि किसान नकदी फसले उगाकर 2022 तक किसानों की आय को दौगुना करने के प्रधानमंत्री के सपने का पूरा किया जा सके जिसके लिए केन्द्र सरकार ने प्रदेश को 4700 करोड़ रूपए दिए है।
उन्होंने कहा कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए घुमारवीं हस्पताल को 50 बैड से 100 बैड तथा भराड़ी हस्पताल को भी 30 बैड से 50 बैड किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों को सुचारू रूप से पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 1 वर्ष में ही 40 हैंड पंप लगवाए गए तथा अन्य पेयजल की दीर्घकालिन परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा है ताकि विधानसभा क्षेत्र से पेयजल की समस्या दूर किया जा सके। उन्होंने कहा कि पतेहड़ा तथा आस-पास की पंचायतों की लो वोल्टेज की समस्या को दूर करने के लिए 12 ट्रास्फार्मर लगाए गए तथा अन्य क्षेत्रों की विद्युत समस्या को दूर करने के लिए ट्रांस्फार्मर लगाए जा रहे है। उन्होंने बताया कि घुमारवी के लिए मुख्यमंत्री द्वारा हिमाचल पथ परिवहन निगम का सब डीपों स्वीकृत किया गया है।
इस अवसर पर उन्होंने पतेहड़ा ठाई माता मंदिर भवन की दूसरी मंजिल के निर्माण के लिए 3 लाख रूपए तथा खुब्बन गांव को जाने वाले पैदल रास्ते में पुली का निर्माण करने के लिए 1 लाख रूपए और गंगा मंदिर में सुरक्षा दीवार लगाने के लिए 1 लाख रूपए देने की घोषणा की।
इस अवसर पर पंचायत प्रधान पतेहड़ा शीतल भारद्वाज, उप प्रधान ब्रहम दास गौतम, उप प्रधान लुहारवीं पंचायत राजिन्द्र कुमार चंदेल, पूर्व बी.डी.सी सदस्य गायत्री देवी, पूर्व प्रधान पतेहड़ा अमरनाथ, एस.डी.ओ आई.पी.एच रविन्द्र रनौत, एस0डी0ओ विद्युत के अतिरिक्त अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here