Home national विद्युत बोर्ड कर्मचारी संघ ने मांगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

विद्युत बोर्ड कर्मचारी संघ ने मांगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

68
0
SHARE

सरकार की नीतियों के खिलाफ नारेबाजी कर निकाला गुबार

जनवक्ता डेस्क बिलासपुर
हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड कर्मचारी संघ ने कर्मचारियों को पेश आ रही दिक्कतों तथा मांगों को लेकर बिलासपुर परिचालन वृत कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर राज्य संघ के महासचिव जेके धीमान की अगवाई में आयोजित इस धरना प्रदर्शन में घुमारवीं, बिलासपुर,कांगू, नम्होल व कोट से काफी संख्या में कर्मचारियों ने भाग लिया तथा सरकार की नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर अपना गुबार निकाला। कर्मचारियों को संबोंधित करते हुए जेके धीमान ने बताया कि विद्युत प्रणाली मंडल बिलासपुर के कर्मचारियों ने विद्युत कानून 2013 उसके प्रस्तावित संशोधन बिल-2018 हिप्रराविप सीमित को विद्युत प्रणाली विंग, प्रोजेक्ट विंग को एचपीपीटीसीएल तथा एचपीपीसीएल को हस्तांतरित करने जिनकी संपत्तियां करीब चार हजार करोड़ रूपए की बनती हैं और शेष 2200 करोड़ रूपए केवल विद्युत बोर्ड के पास रहेगी, इसमें कर्मचारियों का वेतन, पैंशन की अदायगी बोर्ड को करनी पड़ेगी। यही नहीं दो हजार करोड़ के घाटे को वहन करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राच्य ऊर्जा मंत्री ने अनिल शर्मा ने आदेश दिया है कि विद्युत बोर्ड में

कर्मचारियों की सं या उत्तराखंड विद्युत बोर्ड की तर्ज पर कम की जाए। इस आदेश को पारित करने के लिए मुख्य अभियंता से लेकर जूनियर टी-मेट तक के पदों को कम करने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर विद्युत प्रबंधन वर्ग द्वारा 49श्रेणियों के वेतनमानों को कम कर दिया। उन्होंने कहा कि जूनियर टी मेट, जूनियर हैल्पर, जूनियर आफिस असीस्टेंट (आईटी) तथा अकाऊंटस की श्रेणियों की पदोन्नति नियमों को बदला जाए, डाटा ऐंट्री आपरेटर, कंप्यूटर आपरेटर तथा आऊट सोर्स कर्मचारियों के लिए स्थायी नीति बनाई जाए तथा एचपीएसईबी लिमिटेड में समायोजित करने के आदेश जारी किए जाए। बैठक में उपकेंद्रों के 350 पदों को स्वीकृति प्रदान करने के आदेश जारी किए जाएं। नई पैंशन योजना को निरस्त कर पुरानी पैंशन योजना को बहाल किया जाए। इन सभी मुद्दों को लेकर यह धरना प्रदर्शन किया गया। उन्होंने सरकार से मांग की है कि सभी कर्मचारी विरोधी निर्णयों को वापिस लिया जाए। अन्यथा बड़ा आंदोलन करने के लिए बोर्ड कर्मी बाध्य होंगे जिसकी सारी जि मेवारी प्रदेश सरकार की होगी। इस धरना प्रदर्शन में जिलाध्यक्ष यशवंत चौहान, जोगेंद्र सिंह, विपिन कुमार, विजय कुमार, राजेंद्र सिंह, जोगेंद्र, मस्त राम, चमन लाल, विपिन, सुरेश कुमार, गुरदास सिंह, हरीश,चमन, शशि, अनिल, लाल सिंह, कमला, अनुसुया, मोनिका आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here