Home national फोरलेन विस्थापितों ने मांगा चार गुना मुआवजा

फोरलेन विस्थापितों ने मांगा चार गुना मुआवजा

111
0
SHARE

वादा पूरा करो नहीं तो चुनाव में भुगतने पड़ेंगे गंभीर परिणाम – विस्थापित समिति

जनवक्ता डेस्क बिलासपुर
फोरलेन विस्थापित समिति ने हिमाचल सरकार और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि फोरलेन के कारण विस्थापित हुए प्रदेश भर के हजारों परिवारों को पूर्व की भांति अपना सुखद जीवन –यापन करने के लिए या तो उन्हें भूमि के बदले में भूमि उपलब्ध कारवाई जाये याफिर उन्हें विधान सभा चुनाव से पूर्व किए गए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के वादों के अनुरूप भूमि का चार गुना मुआवजा दिया जाये और उनके परिवारों के एक एक सदस्य को सरकारी नौकरी का प्रावधान किया जाये ।
समिति के अध्यक्ष रामसिंह ने अन्य समिति सदस्यों व पदाधिकारियों मुख्य सलाहकार जगतराम शर्मा , वित सचिव बालकराम शर्मा, प्रचार सचिव रनवीरसिंह ठाकुर , सदाराम शर्मा ,ज्ञान चंद शर्मा , प्रेमलाल शर्मा , कृष्णु राम , फतेह सिंह चंदेल , सचिव वीरेंद्र चंदेल ,भागसिंह ठाकुर , बंसीराम और सवित्री देवी के साथ कहाकि उनकी उपजाऊ पुस्तेनी भूमि को सरकार द्वारा जबरदस्ती छीन लिया और उनका बसाव किए बिना उन्हें जीने के लिए अपने हाल पर छोड़ दिया । अब स्थिति यह हो गई है कि उन्हें नए स्थानों पर अपने घर बार बनाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ रही है और उनका अधिकाश धन इस प्रक्रिया पर खर्च हो गया जबकि उनका भविष्य अंधकारमय होकर रह गया है । उन्हें निरंतर यह

चिंता सताये जा रही है कि उनकी आने वाली पीढ़ियाँ किस तरह से अपना जीवन यापन कर पाएगी ,क्यूँ कि इससे पूर्व उनकी कितनी ही पीढ़ियाँ उस जमीन से होने वाली फसल से अर्जित आय पर ही निर्भर थी ।
इन विस्थापित नेताओं ने कहा कि फोरलेन निर्माण कंपनी काम छोड़ कर भाग गई है और पिछले दो वर्षों से सारा काम ठप्प पड़ा हुआ है जिसकारण सभी संबन्धित क्षेत्रों के रास्ते ,सड़कें , पेयजल स्त्रोत ,बिजली और पानी की स्कीमें बुरी तरह से कुप्रभावित होने के कारण लोगों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है । पिछली भारी बरसात के कारण कई स्थानों पर लोगों के घरों को खतरा पैदा हो गया है जबकि अधिकांश स्थानों पर लोगों की जमीने लहासों के रूप में गिर रही हैं । निर्माण कंपनी अधिकांश मजदूरों और कार्य में लगे विस्थापितों को बिना वेतन अथवा मेहनत के अदायगी किए रफू चक्कर हो गई है और सरकार तथा जिला प्रशासन बार बार के आग्रह के बावजूद भी कोई उचित कार्यवाही करने में पूर्णतया असफल रहा है, जिस कारण हजारों विस्थापित परिवारों में सरकार के प्रति भारी गुस्सा , रोष व आक्रोंश ब्याप्त हो गया है ।
इन नेताओं ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया कि उन्हें झांसे और प्रलोभनों की बजाए पूर्व मे उनसे किए गए समझौते को लागू किया जाये और केंद्र सरकार और प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेताओं के चुनावी वादे अनुसार चार गुना मुवावजा दिये जाने के आदेश दिये जाएँ अन्यथा आगामी संसदीय चुनाव में इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here