Home national पौंग बांध क्षेत्र विकास बोर्ड की तर्ज पर बने भाखड़ा विस्थापित विकास...

पौंग बांध क्षेत्र विकास बोर्ड की तर्ज पर बने भाखड़ा विस्थापित विकास बोर्ड : सुधीर सुमन

29
0
SHARE

अपनी भूमि भाखड़ा बांध निर्माण हेतु कुर्बान करने के उपरांत जी रहे नारकीय जीवन

जनवक्ता डेस्क, बिलासपुर
प्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव और झण्डुता चुनाव क्षेत्र के युवा नेता सुधीर सुमन ने हिमाचल प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मांग की है कि देश के लिए अपना घर बार तथा अपनी भूमि देश निर्माण के मकसद से भाखड़ा बांध निर्माण हेतु कुर्बान करने के उपरांत नारकीय जीवन व्यतीत करने को विवश भाखड़ा बांध विस्थापितों की समस्याओं को हल करने के लिये पौंग बांध क्षेत्र विकास बोर्ड की तर्ज पर भाखड़ा विस्थापित विकास बोर्ड का गठन किया जाये।
युवा नेता ने कहा कि भाखड़ा बांध के निर्माण से समूचे बिलासपुर क्षेत्र और ऊना व मण्डी की आंशिक जनता को विस्थापित होकर अपना घर बार छोड़कर जंगलों और पहाड़ियों पर बसने के लिए मजबूर होना पड़ा है तथा इन लोगों ने देश के प्रमुख प्रान्तों पंजाब, हरियाणा और राजस्थान आदि राज्यों को बिजली-पानी की सुविधा प्रदान

करके उन्हें सुख समृद्धि प्रदान करके अपनी जन्मभूमि का बलिदान दिया है और स्वयं कठिनाइयों भरा जीवन जी रहे हैं।
सुधीर ने बताया कि भाखड़ा बांध विस्थापितों की समस्याओं को हल करने के लिये कांग्रेसी सरकारों ने विशेषकर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सरकार ने काफी कार्य किए हैं। बिलासपुर शहर में विस्थापितों को रिहायशी प्लाटों का आवंटन किया है, विस्थापितों के गांवों को सड़क, बिजली, पेयजल सुविधा जुटाने का प्रयास किया है तथा सैकड़ों शैक्षणिक और संस्थाओं को खोला है। परंतु अभी भी उन क्षेत्रों के विकास के लिए बहुत कुछ करना बाकी है क्योंकि विकास की गुंजाइश सदैव बनी रहती है। विस्थापितों के लिये उस समय राजस्व विभाग के अधिकारियों ने जो भूमि अलाट की है उसका दखल कहीं और स्थान पर तथा नक्शे के आधार पर भूमि कहीं दूसरे स्थान पर है। भाखड़ा बांध से बनी झील के सामने घर स्पष्ट दिखाई देते हैं परन्तु वास्तविक रूप में वहां पहुंचने के लिए आज भी सैकड़ों किलोमीटर का रास्ता तय करना पड़ता है। अतः इनकी समस्याओं को हल करने के लिए भाखड़ा विस्थापित कल्याण बोर्ड की स्थापना की जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here