Home national नालागढ़ में आरएसएस का राज्यस्तरीय प्रशिक्षण शिविर संपन्न

नालागढ़ में आरएसएस का राज्यस्तरीय प्रशिक्षण शिविर संपन्न

43
0
SHARE

व्यवस्था परिवर्तन देशभक्ति, संगठन, अनुशासन व स्वाभिमान के आधार पर आएगा

किसी राष्ट्र का भविष्य उसके समाज पर निर्भर करता है-अरुण

नालागढ़ उद्योग संघ के अध्यक्ष सुबोध ने की अध्यक्षता

जनवक्ता ब्यूरो,नालागढ

आरएसएस हिमाचल प्रदेश का बीस दिवसीय संघ शिक्षा प्रशिक्षण वर्ग नालागढ के अवस्थी गु्रप ऑफ इंस्टीट्यूट में संपन्न हुआ। यह राज्य स्तरीय शिविर 6 जनवरी से प्रार भ हुआ था जिसका विधिवत समापन शनिवार देर शाम हुआ। समापन कार्यक्रम के समापन अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार मु य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे। वर्ग में आईपीएस अधिकारी आई. जी(सेवानिवृत) प्रदीप सरपाल वर्गाधिकारी और नालागढ़ उद्योग संघ के अध्यक्ष सुबोध गुप्ता कार्यक्रम के अध्यक्ष के रूप में उपस्थित रहे। वर्ग के कार्यवाह डॉ.शिवदयाल ने वर्ग का परिचय कराया। बीस दिवसीय वर्ग में हिमाचल, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा व ज मू-कश्मीर से कुल 361 शिक्षार्थी, 72 प्रबन्धक व 49 शिक्षकों सहित 480 स्वयंसेवकों ने भाग लिया। शिक्षार्थियों ने बीस दिनों में सीखे विभिन्न शारीरिक(सूर्यनमस्कार, योगासन, खेल, नियुद्व, दंड ) कार्यक्रमों का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम के अध्यक्षता करते हुए नालागढ़ उद्योग संघ के प्रधान सुबेाध गुप्ता ने कहा कि समाज में अगर निस्वार्थ भाव से काम करने वाले चरित्रवाण, परसपर सनेह करने वाले, अनुशाषित उद्यमी लोग रहेंगे, तो देश आगे बढ़ेगा। ऐसे समाज के निर्माण करने का काम संघ ने अपने हाथ में लिया है, जिसमें हर युवा को जुड़ना चाहिए। व्यक्ति समाज के बारे में संवेदनशील व राष्ट्र के बारे में जागृत व सक्रिय हो, ऐसे व्यक्ति तैयार करने का व उन्हें संगठित करने का कार्य संघ करता है। सुबोध ने आगे कहा कि मैं तो जरूतमंद की सेवा को अपना कर्तव्य मानता हूं और मैं अपनी बुराई करने वालों का भी स मान करता हूं, क्योंकि उससे मेरा अच्छाई का मार्ग और साफ होता है। उन्होने आहवान

किया कि हम सब को सामाजिक बुराईयों को जड़ से मिटाने के लिए संयुक्त प्रयास करने चाहिए। जब समाज से कन्या भ्रूण हत्या, दहेज, नशा, भ्रष्टाचार व जातिवाद जैसी कुरीतियां समाप्त होगी, तभी हम आदर्श समाज की कल्पना कर सकते है। मु य वक्ता अरुण कुमार ने कहा कि गणतंत्र दिवस का संदेश, हमारा कर्तव्य, त्याग, संघर्ष, इतिहास की याद कराने वाला है। प्रत्येक वर्ष संघ के इस प्रकार के 80 प्रथम वर्ग लगते हैं। इन वर्गों में लगभग 25000 शिक्षार्थी भाग लेते हैं। इसके अतिरिक्त संघ के 1000 प्राथमिक शिक्षा वर्ग (आईटीसी) प्रतिवर्ष लगते हैं जिनमें एक लाख के लगभग स्वयंसेवक प्रशिक्षण लेते हैं। शिक्षण लेने के पश्चात् स्वयंसेवक जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय कार्य करते हैं। संघ का विचार है कि भारत एक राष्ट्र है, प्राचीन राष्ट्र है और हिन्दु राष्ट्र है। वहीं दुखद पहलू यह है कि भारत से आजादी मांगने वाले और इसके टुकडे-टुकडे की मांग करने वाली विचारधारा के लोग भी यहां हैं। व्यवस्था परिवर्तन देशभक्ति, संगठन, अनुशासन व स्वाभिमान के आधार पर आएगा। किसी राष्ट्र का भविष्य उसके समाज पर निर्भर करता है। संघ कोई बड़ा संगठन खड़ा नही करना चाहता वह तो देश को संगठित करना चाहता है। इस वर्ग में निरंकारी मिशन, विश्व मानव रूहानी मिशन एवं अन्य संस्थाओं का सहयोग भी रहा। कार्यक्रम में उत्तर क्षेत्र प्रचारक प्रमुख रामेश्वर दास, प्रांत कार्यवाह किस्मत कुमार, प्रांत प्रचारक संजीवन कुमार, मु यमंत्री जयराम ठाकुर, शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, जिला संघचालक हरिराम धीमान, जिला कार्यवाह महेश कौशल, सांसद अनुराग ठाकुर, धर्म जागरण प्रमुख एडवोकेट संदीप सचदेवा, दून विधायक परमजीत सिंह प मी, जिलाध्यक्ष बीजेपी केएल ठाकुर, विधायक बलवीर वर्मा, आशुतोष वैद्य, दवा निर्माता संघ के राज्यप्रधान डा. राजेश गुप्ता, फार्मा विंग सलाहकार चिरंजीव ठाकुर, चेयरमैन सतपाल जस्सल, अवस्थी गु्रप के चेयरमैन चंद्रशेखर शर्मा, विहिप नेता मास्टर सुरेंद्र शर्मा, ऋषभ अवस्थी, राष्ट्र सेविका समिति की कार्यवाहिका शालिनी गुप्ता, रडियाली की पंचायत प्रधान इंदु ठाकुर, मंडी बोर्ड निदेशक बसंत शर्मा, नालागढ-बद्दी के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, बीबीएन व परवाणु उद्योग क्षेत्र के उद्योगपति, विभिन्न सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, स्थानीय गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here