Home aasam दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की साध्वी सुश्री मनेंद्रा भारती ने दिया श्री...

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की साध्वी सुश्री मनेंद्रा भारती ने दिया श्री कृष्ण कथा का निमंत्रण

2232
0
SHARE

31 जनवरी से 6 फरवरी 2019 तक बिलासपुर में होगी कथा

जनवक्ता डेस्क बिलासपुर
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान’ की साध्वी सुश्री मनेंद्रा भारती ने संस्थान की ओर से 31 जनवरी से 6 फरवरी 2019 तक नगर परिषद ग्राउंड ड़ियारा सैक्टर बस स्टैंड के नजदीक बिलासपुर हि.प्र. में होने जा रही श्री कृष्ण कथा का सब को निमंत्रण दिया है। इस कथा समागम का समय दोपहर को 1 बजे से सायं 4 बजे तक रहेगा जिसमें श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या कथा व्यास साध्वी सुश्री कालिन्दी भारती विशेष रूप से कथा वाचन करने आ रही हैं। उन्होंने इससे पहले राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान एवं राजकीय महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बिलासपुर में विद्यार्थियों व शिक्षार्थियों को संबोधित करते हुए आज के समाज में हो रहे नैतिक मूल्यो के पतन पर गंभीर चर्चा की। उन्होने कहा कि वर्तमान समाज की यह विडम्बना है कि आज युवा शक्ति की धरा पूर्णतः उल्टी दिशा में बह रही है। युवा अवस्था नदी के उद्दाम वेग की तरह, शक्ति की वह धरा होती है जो अपने भीतर नवीन परिवर्तन व सृजन के रत्नों को समेटे चलती है। परन्तु यह धरा

तनिक भी पथभ्रष्ट हो जाए तो इससे भयावह व विध्वंसक ताकत कोई और नहीं और आज संस्कार विहीनता व तनाव के वातावरण में पल्लवित होते युवा वासना और ऐन्द्रिक सुख भोगों के मरूस्थल में खोते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पाश्चात्य सभ्यता के अन्धनुकरण ने उनके सामने एक ही उद्देश्य प्रस्तुत किया है – भौतिकवाद का। खोखले बनावटी सिद्धांतों के सहारे टिका यह जीवन दर्शन उन्हें उग्र, व्यभिचारी, नशाखोर, चरित्रहीन, भ्रष्ट और तनावग्रस्त बना रहा है। ऐसे परिप्रेक्ष्य में परम आवश्यक है कि आज युवाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के साथ-साथ मानसिक सशक्तिकरण के लिए शिक्षा एवं दीक्षा भाव आत्म साक्षात्कार के समन्वय की, तांकि उनको सुंसस्कृत, सभ्य, संयमी व आत्मविश्वासी बनाया जाए। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के संस्थापक व संचालक श्री आशुतोष महाराज आत्म जाग्रति के लिए ब्रह्मज्ञान प्रदान कर मनुष्य में मानवीय एवम् मौलिक मूल्य उजागर कर उन्हें आदर्श एवम् श्रेष्ठ मानव बना रहे हैं। क्योंकि आज समाज श्रेष्ठ व्यक्तियों को खो बैठा है। श्रेष्ठ व्यक्ति ही श्रेष्ठ कार्य कर श्रेष्ठ समाज का निर्माण कर सकते हैं। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान एक क्रांति की लहर है, एक आन्दोलन है जो अज्ञानता, अन्ध्विश्वास व सामाजिक कुरीतियों के खिलापफ आवाज उठा रहा है और वसुधैव कुटुम्बकम का विशाल दृष्टिकोण प्रदान कर रहा है। इस अवसर पर औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य व अध्यापक गणों ने दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के द्वारा युवा उत्थान एवं सामाजिक कल्याण हेतु किए जा रहे ऐसे प्रयासों की तह दिल से सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here